लॉकडाउन की ये तस्वीर देख सोशल मीडिया पर फूटा लोगों का गुस्सा, कांग्रेस बोली- ‘मोदी जी इन्हीं को जहाज में बिठाने का सपना बेचा था

0
9

कोरोनो वायरस को

नई दिल्ली: कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते देशभर में लगे लॉकडाउन की वजह से लाखों प्रवासी मजदूर पैदल चलने को मजबूर हो गए हैं। देश भर से कई तस्वीरें सामने आई हैं, जो उनकी मजबूरी को दिखाती हैं। हालांकि लॉकडाउन के तीसरे चरण में केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने श्रमिकों के लिए स्पेशल ट्रेंने चलाई हैं लेकिन फिर भी कई मजदूर अपने घर पहुंचने के लिए जद्दोजहद कर रहे हैं। इसी जद्दोजहद की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर सामने आई है, जिसे देख ट्विटर पर लोगों ने गुस्सा जाहिर किया है।

वायरल तस्वीर में एक पिता अपने छोटे बच्चे का एक हाथ पकड़कर ट्रक के ऊपर चढ़ाने की कोशिश कर रहा है। तस्वीर काफी डरावनी और दिल दहला देने वाली है। इसका वीडियो भी सामने आया है। शख्स ट्रक पर चढ़कर एक रस्सी के सहारे अपने छोटे बच्चे को चढ़ाने की कोशिश में दिख रहा है। यह तस्वीर काफी खतरनाक लगी क्योंकि बच्चे के साथ-साथ पिता को भी गिरने का डर है। ट्रकों पर महिलाएं भी साड़ी पहनकर चढ़ते नजर आ रही हैं। बताया जा रहा है कि ये वायरल तस्वीर रायपुर की है।

कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने भी इस तस्वीर को शेयर कर लिखा है, ”मोदी जी, इन्हीं को जहाज में बिठाने का सपना बेचा था ना!”

मोदी जी,

इन्हीं को जहाज़ में बिठाने का सपना बेचा था ना!

— Randeep Singh Surjewala (@rssurjewala)

मजदूरों की हालात बयां करने वाली कुछ और तस्वीरों को पोस्ट कर रणदीप सिंह सुरजेवाला ने लिखा, मोदी जी, इन चप्पल वाले भारतीय श्रमिक भाईयों के लिए ‘वंदे भारत’ क्यों नहीं? आपकी संवेदनहीनता से करोड़ों श्रमिक असहाय महसूस कर रहे हैं! आज 8 बजे तो इनके बारे बताइए।

मोदी जी,

इन चप्पल वाले भारतीय श्रमिक भाईयों के लिए ‘बंदे भारत’ क्यों नहीं ?

आपकी संवेदनहीनता से करोड़ों श्रमिक असहाय महसूस कर रहे हैं !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here